• abhishekmanukumar 5w

    चढ़ती रातों का नश़ा हैं
    सुबह तक
    तेरा सुरूर भी उतर जायेगा