• priyarathi 15w

    #mirakee#writersnetwork#शब्द#खेल#ज़िन्दगी#कहानी

    Read More

    शब्दों का खेल

    वो तो बस शब्दों के खेल में माहिर था
    और दुनिया उसे शायर समझ बैठी।
    जिस पल वो अपना भाव बयां न कर पाया
    वही दुनिया उसे कायर समझ बैठी।।

    कोरे कागज पर वो पंक्तियाँ
    जो एक कविता सी लग रही थी,
    वो तो उसी की ज़िन्दगी की कहानी थी,
    और वही लोगों को सुहानी लग रही थी।।

    वो तो बस शब्दों के खेल में माहिर था,
    इसीलिए अपनें दर्द को भी
    इतनी खुबसुरती से बयाँ कर जाता था।

    वो तो बस शब्दों के खेल में माहिर था,
    इसी वजह से अपनी ज़िन्दगी पर कलम रख कर
    कई रचनाएँ कर जाता था।।
    ©priyarathi