• rangkarmi_anuj 14w

    शायरी

    Read More

    तेरी नज़र

    जब से तेरी नशीली आँखो को देखा है
    मैंने मयख़ाना में जाना छोड़ दिया
    जब से तेरी बातों को सुना है
    मैंने मुशायरे में जाना छोड़ दिया
    ©anuj_artist