• adityakunwar 3w

    आज की फिजा भी बड़ी रंगीन है,
    गुलाबों की क्यारी भी बड़ी हसीन है;

    आज हर आशिक अपनी पिया का गुलाब-ए-दिदार में लगा है,
    पर हमने तो एक दिलकश गुलाब बरसों से दिल में छुपाए रखा है ।

    आदित्य कुंवर


    ©adityakunwar