• cb_m_a_r_t 6w

    । चहेरा ।

    होता सब है बस कभी बयाँ नहीं होता ,
    बातों से समझ जाते तो लिखना नहीं होता,
    लाख बादे कर तोड़ने वाले भी बहुत हैं बेसक,
    पर समय के बदले का कोई चहेरा नहीं होता ।।

    C.BM
    ©cb_m_a_r_t