• mukesh_nagar 6w

    जब श्रीराम कीन्ह हृद बासा।
    सुखी भए सब बीती त्रासा॥

    जब श्री रामजी हृदय में निवास कर रहे हैं, तब सुख से रहो, कोई भय नहीं हैं।