• hindikavyasangam 2w

    गुरुदेव रवीन्द्रनाथ ठाकुर की एक लघुकथा है: एक बार मनुष्य ने कटाक्ष करते हुए धरती से कहा, हे धरती! तू बहुत कंजूस है। हम दिन रात मेहनत करते हैं, तब तू हमें अन्न के कुछ दाने देती है। अगर तू हमें बिना मेहनत कराए ही अन्न के दाने दे दे, तो तेरा क्या बिगड़ जाएगा? धरती ने उत्तर दिया- मेरा तो कुछ न बिगडे़गा, बल्कि मेरी तो महिमा और बढ़ जाएगी। लेकिन तब तेरा बहुत कुछ बिगड़ जाएगा। तब तेरा ऊंचा मस्तक, तेरे महल, तेरी शानोशौकत सब मिट जाएंगे, क्योंकि ये सब तेरे परिश्रम करने से ही हैं।

    हम जब अपनी शक्तियों को पहचान लेते हैं, तो वे अधिक सक्रिय और सार्थक हो उठती हैं। अपनी शक्ति और अपनी ऊर्जा को सोता हुआ छोड़कर हम जीवन को सार्थक नहीं बना सकते। उसे सार्थक बनाना है, तो अपनी आत्मशक्ति को जागृत कीजिए और फिर चमत्कार देखिए। एक विचारक ने ठीक कहा है- जीवन एक आश्चर्य भरा संतोषजनक अनुभव हो सकता है। अपनी तमाम असमानताओं और विभिन्नताओं के बावजूद जीवन सुखद होता है। जीवन के मूल्य पर विश्वास कीजिए और इसके अनूठेपन के महत्व को स्वीकार कीजिए। इसे संवारिए- क्योंकि जिन्होंने इस पर विश्वास किया है और इसे बर्दाश्त किया है, उन्हें अंत में आनंद, शांति और सफलताएं मिली हैं।


    ➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖

    @shriradhey_apt @theshekharshukla @aashu_ @insidopedia_of_akhil @a12chit @anubhav_say @preeti_ @mohini_uvaach @penarch @mid_day_special @beauty_in_veins @a_way_to_infinity @yellowdiaries @sammie_d75 @iamankyt @ayushsinghania @soulful @reetey @vo_ankahii_guftugu @laughing_soul @satiksha @nniyanayan @heeranshimishra @rahul_mishra
    @manish_mishra @anshithewriter @mushaaiir @dipanshu_tanwar @omi_jain @anamika_ghatak @chandralekha_vw @anubhav_say @diarydil_di @smriti_mukht_iiha @monikakapur @chanakyagrover @shreyaa_soni @unikaurn
    #hks #lk
    ➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖➖

    Read More

    आत्मशक्ति

    ©रवीन्द्रनाथ ठाकुर

    कैप्शन में पढ़ें।