• navya11 10w

    होश में थे ही कहाँ जो संभलकर चलते
    पर कोई गिला नहीं है मुझे
    बड़े नसीब से मयस्सर होता है गिर कर उठना