• alicedmello 25w

    दिलकश है ये कहानी,
    एक सिरे पे आशिकी, तो दूसरे पे फकीरी है।
    गर आशिकी ख्वाहिश है, तो फकीरी कुर्बानी।
    गर आशिकी में तड़प है, तो फकीरी में रिहाई।
    गर आशिकी मर्ज है, तो फकीरी इसका इलाज़।
    प्यार की दहलीज पर घायल दिल है।
    आशिकी मुकम्मल ना हुई, फकीरी सुकून से बेखबर रही।
    तबाही और बर्बादियों का अलग ही रिश्ता है, एक आशिक और फकीर ने इसे निभाया है।

    ©alice