• tej_ptl_3_7 3w

    वो कहते है आज के लिए इतनी बातें बस है,
    पर क्या करू मेरा दिल का प्याला है जो तेरी बातों से कभी भरता नहीं!

    तुझसे बात किये बिना मेरी रात गुज़रती नहीं और ,
    तुझसे बात किये बिना मेरा दिन निकलता नहीं!

    आज भी सोचा था नहीं बात करूंगा तुझसे बस रुठ जाऊगा,
    लेकिन ये दिल है के तुझसे बात किये बिना मानता नहीं!

    तेरे साथ सिर्फ़ दोस्ती है या प्यार या इससे भी बढ़ कर,
    ये जो भी है मेरा दिल इस रिश्ते का नाम जानता नहीं!

    सब लोग मुझे रुलाने के लिए बेताब रहते है,
    एक तेरा ही मन है जो कभी मुझे सटाता नहीं!

    क्यु है तु मेरे लिए इतना खास? ये तो मेरा रब ही जाने,
    पर तेरा दर्जा मुझसे किसी ओर को दिया जाता नहीं!

    पता नहीं क्यु पिछा कर रहा है तु उस साये का ए "तेज",
    कैसे यकीन दिलाऊ तुझे के ये साया किसी के हाथ आता नहीं!