• kavish_kumar 10w

    एक दरख्त जो नफरतों की बाढ़ में डूब गया..
    ताने सुन-सुनकर लोगो से आखिरकार वो सूख गया..
    पर अब उस पर ठहरता इश्क़ गहरा है..
    डूबता एक दरख्त जिस पर पंछियों का डेरा है..
    चारो ओर दरिया है , मन में उसके सहरा है..
    हर प्रीत का जोड़ा उसी पर आकर ठहरा है..
    ©Aatish ��