• jaychouhan 6w

    Follow me -instagtam @the_illiterate_poet

    Read More

    मां

    मां सिर्फ शब्द नहीं ,पूरा शब्दकोश है।
    मां वो छिड़काव है पानी का जो हमे दिलाता होश है।
    सही गलत की सीख देती और गलतियों की माफी।
    हमारे लिए उन्होंने तकलीफे सही है काफी।
    नौ महीने रखा कोख में, दूध पिलाया सीने का।
    जिंदगी भी दी बिना स्वार्थ के, और गुण सिखलाया जीने का।
    तुम छोड़ दोगे उन्हें उनके हाल पे, पर वो कभी नहीं छोड़ेगी।
    तुम्हारी हर चोट पर जब मां निकलेगा, वो तुम्हारे लिए दौड़ेगी।
    मै किस तरह से शुक्र अदा करु मां का, सात जनम कम पड़ जाए।
    बस यही तम्मना है ,की हर जनम में तेरी ही ओलाद बन तेरी सेवा कर पाएं।