• bepanaah_raaj 16w

    वो भीड़ में था, पर तनहा था
    उसे किसी और ने जकड़ा था
    संग मेरे भी वो होकर कहाँ था
    वो ग़म में इतना लिपटा पड़ा था
    बोलो, सौतन किसे भायेगी भला
    मुझे भी नही भायी, भगा दिया।✍-राजकुमारी ©bepanaah
    .........
    Instagram-@r_poeticworld

    #hindiwriters
    #hks
    @shriradhey_apt,@vikram_sharma,@iamankyt,

    Read More

    तुझे पा लिया

    जब तक चाही, ख़ुशी अपनी, तुम सच होकर भी सपने लगे
    आज तुम्हे सच में पा लिया, तुम्हारे ग़म जो मुझे अपने लगे।

    ✍-राजकुमारी
    ©bepanaah_raaj