• mypenn 15w

    घड़ी की सुईयों जैसे चलतें है तेरे पाँव,
    न कभी रुकते, न कभी थकते,
    ख़ुद को छोड़कर, है सबका ख़्याल रखते।।
    ©mypenn