• tauheedshahbaz 15w

    नींद

    हज़ार रात न सोया
    कमरे में था ग़म बोया
    मुहब्बत थी जरूरत बहुत
    जुदा जिस्म तन्हाई में रोया
    ©tauheedshahbaz