• ravikant2 5w

    मोहब्बत ही तो की है कोई गुनाह तो नहीं किया
    फिर क्यूँ इतनी कडवाहट से पेश आते हो
    माना कि तुम्हें हम पसंद नहीं
    लेकिन हमें तुम ही तुम क्यों नजर आते हो।।
    ©ravikant2