• kaifyyy 37w

    "कौन कहता है"

    कौन कहता है....
    की फिर मोहब्बत न होगी जो तुम एक बार इसमे हार गए
    कौन कहता है....
    फिर वो चाहत न होगी जो तुम किसीकी चाहत को पा न सको
    कौन कहता है....
    वक़्त-हो-हालात में हर किसी की मोहब्बत सिमट सी जाती है
    कौन कहता है.....
    की उस यार के प्यार को किसी और पर नही लूटा सकोगे
    कौन कहता है....
    की दूसरी मोहब्बत में इंसान की फितरत भी बदल जाती
    कौन कहता है....
    की पहली मोहब्बत हमेशा सच्ची होती
    कौन कहता है.....
    की तुम फिर मुस्करा न सकोगे
    कौन कहता है.....
    की फिर किसीकी मोहब्बत पा न सकोगे
    गर जो ऐसा होता.....
    तो दोबारा मोहब्बत पर गुरूर नही करता
    गर जो ऐसा होता....
    तो वो मोहब्बत में मुझे सकून नही मिलता
    गर जो ऐसा होता....
    तो वो फरिश्ता न बना होता
    गर जो ऐसा होता....
    तो अपनी पहली मोहब्बत की घुटन में ही जीता।।।

    ©kaifyyy