• thet1dwriter 6w

    एक रास्ता अनजाना सा,
    उसकी मंजिल भी कुछ अनजानी सी।

    न जाने कितने मोड़ होंगे,
    न जाने कितनी रुकावटें होंगी,
    उस अनजाने रास्ते पर,
    उस अनजानी मंजिल की ओर।

    अनजाने रास्ते पर,
    अनजानी मंजिल की ओर,
    अगर कुछ निश्चित है,
    मंजिल तक पहुंच कर,
    लक्ष्य हासिल करना।

    ©thet1dwriter