• abhimanyusingh 5w

    तो क्या हार मान कर मैं भी अच्छे दिनों का गुणगान गाओ।।
    मैं अभिमन्यु हूँ ,गुलामी की जंजीरे मुझे जकड़ ले ये उनके बस की बात नही।।
    ©abhimanyusingh