• drpriyanka_sharma 6w

    ए दर्द! तु मेरा हमसफ़र
    जब ज़रूरत ना भी हो तेरी,
    तु चला आता है
    दबे पाँव, मेरे घर
    ए दर्द! तु मेरा हमसफ़र

    जब में थक सी जाती हूं
    आँखों की बरौनियों से
    तु मुझको हंसता दिखता है
    ए दर्द! न ढा तु ये कहर
    कोई दे दे अब ज़हर

    तेरे ही साथ चल तय कर लूं
    मैं आख़िरी सफर
    ए दर्द!
    ए....दर्द!

    -रि द् म