• shubhambhatt 13w

    इंतजार

    आखिर मंजिल भी पाकर देख ली

    ना रहा जाए अब जाने बगैर !

    कब रुकुँगा इस जिन्दगी की दौङ से

    मिले वो सुकून थम जाने का,बस देर-सबेर !!

    -Bhatt..ji..