• ramanuj_kumar_ray 15w

    किसी को मज़बूरी सुला रही है,तो किसी को मेहरबानी। मयस्सर तो यहाँ है सबको अपनी अपनी नींद।
    ©ramanuj_kumar_ray