• shubhamzades 3w

    कैसे बयान करें आलम दिल की बेबसी का
    वो क्या समझे दर्द आँखों की इस नमी का

    उनके चाहने वाले इतने हो गए हैं अब कि
    उन्हे जब एहसास ही नहीं हमारी कमी का
    @shayari_poetry_