• mrkkbadboy 6w

    कुछ लिखो

    कुछ लिखो जो सबसे अलग हो,
    वो ना लिखो जो तुम चाहते हो,
    वो लिखो जो दिल चाहता हो,
    कागज पर इस तरह क्यों लिखते हो,

    लिखना है तो लोगों के दिल पर लिखो,
    मजबूर हो सोच पर क्या-क्या लिखो,
    क्या पता है दर्द का उस दर्द को लिखो,
    ना पता हो र्दद का तो खुशी को लिखो,

    तन्हाइयों में बैठे हो तो तन्हाई लिखो,
    कंगन क्यों टूटता उस पल को लिखो,
    एक प्यार के प्यासे की प्यास को लिखो,
    कुछ ना मिले तो कार्तिकेय के साथ बैठो
    फिर कभी-कभी ज़रा-ज़रा कार्तिकेय को लिखो

    ©Mr.KK bad boy