• anumehta0592 6w

    तेरे खयालों.....

    Read More

    तेरे खयालों

    कभी तेरे खयालों में खो जाती हूँ..
    कभी ख़यालों में ही तेरे संग जी लेती हूँ..
    कभी नींद में भी बेचैन हो जाती हूँ..
    तुझे सोचते रहना, तुझे चाहते रहना..
    अब मुझे बस एक यही काम है.…
    तू मेरी क़िस्मत में है या नहीं