• my_symphony 15w

    मा क्यों जन्म दे रही हो मुझे
    कैसे सब सह पाउंगी
    शायद वो तुझे मारे
    अगर मैं इस दुनिया मेंआउंगी

    क्या दीदी की तरह ही मैं भी
    शिक्षा से वंचित रह जाउंगी
    इन समाज के दरिंदो से
    कैसे खुद को बचाउंगी

    इतनी बाली उमर में
    पराये घर को चली जाउंगी
    इतने भारी बंधनो का
    भार कैसे उठाऊंगी

    बाबा भोज समझ कर भेजदेंगे
    उस नरक म चुप चाप मैं भी चली जाउंगी
    हा शायद तेरे तरह ही मा
    मैं भी एक कैद पंछी बन जाउंगी
    ©my_symphony