• himanshipunjabi 15w

    वो तितली की तरह आयी और ज़िन्दगी को बाग कर गयी
    मेरे जितने भी नापाक थे इरादे, उन्हें भी पाक कर गयी।

    ***********************
    ©Zakir khan