• sshekhar182 5w

    अभिधा, लक्षणा और व्यंजना से परे,
    मेरे हर शब्द में सिर्फ 'तुम' हो।

    शुभ रात्रि।
    ©sshekhar182