• amitachuabe 6w

    **कर्म फल**

    वो मंजर भी कितना खौफनाक होगा,
    जब खुदा की अदालत होगी और हमारा
    हिसाब होगा, न कोई रिश्वत चलेगी ,न झूठी
    गवाही उसकी अदालत में हर चेहरा बेनकाब
    होगा , अमीरी गरीबी का न भेदभाव होगा
    पल पल का वहां हिसाब होगा, ए बंदे सोच कर
    कर कर्म कर कर्मों का फल वहां भोगना बार बार
    होगा
    ©amitachuabe