• kshatrani_kalam 15w

    तेरा अंश मुझ में रह गया बाकि,
    छोड़ दू इसे सीने में चुबने को या
    कह दू सितम सारे अपने कलम की ज़ुबानी।
    ©in_the_mid_of_life