• ultimatewritings 15w

    Random

    भटकती हुई इस अंतरात्मा को और क्या भटकाना।
    जो होना था हो गया ,अब इसे और क्या रुलाना।।
    ©ultimatewritings