• kanha007 15w

    सुनो

    ना तुम कुछ कहना न मैं कुछ कहूंगा..
    ना तुम कुछ सुनना ना में कुछ सुनूंगा..
    बस आंखों को बातें करने देना..
    क्योंकि लफ्ज़ तो कभी झूट को सहारा ले भी लेते हैं..
    पर आंखें सच की सच्ची हमराह होती हैं..
    ❤️
    ©kanha007