• divyashayadav 6w

    मेरे इश्क़ को करना था जो यूँ ही बदनाम ,
    तो दिल लगाया ही क्यों ?
    दिल ना मिलाने थे जो इस क़दर ,
    तो इश्क़ करना सिखाया ही क्यों ?


    © दिव्याशा यादव