• angelthakur 15w

    मेरी कहानी की शुरुआत भी तुम
    और अंत भी।
    मैं जिधर भी देखूं
    सिर्फ तुम ही तुम।
    ख़यालों में जिसका नाम है
    वो असलियत हो तुम।
    मेरे जिन्दा रहने का
    सबब हो तुम।
    ©angelthakur