• iamnitishthakur 7w

    Please check the other posts in my feed.

    Read More

    चिंताएँ

    (Part 6)
    P.s.-


    यह भविष्यवाणी हो सकती है, यह एक बुरा स्वप्न हो सकता है । यह पूर्व आगम हो सकता है,किसी अनभिज्ञ घटना के,जो शायद पूर्वभाष के अनुरूप ही घटेंगे । या,यह मेरा भ्रम हो सकता है ।
    लेकिन,नहीं यह मेरा भ्रम नहीं है । क्योंकि,कुछ बातें इनमे से पहले से तय हैं,जो कि औऱ संवेदनाओं को ज़न्म देती हैं ।
    तो यह, एक बुरी भविष्यवाणी कही जा सकती है ।
    जिसका घटना शायद तय हो । लेकिन यह वही भय है,जो मुझे हमेशा सताती रहती हैं,और चिंता का समाँ सदैव मेरे साथ चलता है ।

    मैं,इस देश के ग़रीब ,या अति मध्यम परिवार का एक गैर-जिम्मेदार युवा बालक हूँ,जो अब जिम्मेदारियों के तले दबने पर मज़बूर हो रहा है ,और अपने ज्ञान औऱ सँस्कार के चुनौतियों को स्वीकार करने में खुद को असमर्थ महसूस कर रहा है । हालाँकि, उसे डर भी है,इसके किसी महत्वपूर्ण अंश के खो देने का,औऱ डर भी है जिम्मेदारियों के भँवर में अपने सुनहरे सपनों को बिखेर देने का,जिन्हें वो कभी एकत्रित नहीं कर पाएगा ।
    ©iamnitishthakur