• perpetual_wanderer 34w

    एक अजीब सी रात

    एक अजीब सी रात थी
    ना हकीकत सच था ना स्वप्न में वो बात थी
    ना मेरे ख्वाब में तुम थे ना मेरे दिल को तेरी तलाश थी
    काश ऐसा ही मंज़र हुमेशा होता
    सुकून से मै भी फिर सो पाता
    एक अजीब सी रात थी

    ©perpetual_wanderer