• gyanendra_946 15w

    ये प्यारा सा जो रिश्ता है,
    कुछ मेरा है, कुछ तेरा है,
    कहीं लिखा नही, कहीं पढ़ा नही,
    कहीं देखा नही, कहीं सुना नही,
    फिर भी जाना पहचाना है,
    कुछ मेरा है, कुछ तेरा है
    ©gyanendra_946