• sanki_shayar 6w

    शहर में एक ठिकाना ढूँढता है
    वो जीने का बहाना ढूँढता है ।

    तुम जिसको फेंक आते हो सड़क पर
    कोई उसमें 'ख़जाना' ढूँढता है ।।

    मैं तुमको ढूँढने में खो गया हूँ
    और अब मुझको जमाना ढूँढता है ।
    ©sanki_shayar