• pendownthoughts 7w

    है तू एक और मुश्किले अनेक
    मैदान बडा है, तू खिलाडी अकेला है
    तू आगे तो बढ
    बढते रहने का जजबा ही बहोत है



    ©Shipra