• vibhasbambroo 4w

    वक़्त की करवटों में क्यों इतना लिपटा है तू,
    मेरे एहसास तू मुझसे इतना जुड़ा है क्यों,

    काश तू राख होती जिसे मैं उड़ा सकता,
    इन यादों को में यूँही मिटा सकता,

    मिटा सकता उस वक़्त को जिसमें तेरा भी कोई हिस्सा था,
    पर तेरे बिना यह वक़्त अधूरा है क्यों?
    तू बता की में तुझसे इतना जुड़ा हूँ क्यों?
    ©vibhasbambroo