• monamanish 2w

    दो पहलू

    मैं इश्क़ लिखता हूँ , वो अश्क लिखते हैं ..
    मैं हसीन लम्हें लिखता हूँ , वो कठिन वक़्त लिखते हैं ..!!
    मैं अपनी चाहत लिखता हूँ , वो तुम्हारी पसंद लिखते हैं ..
    मैं अनकही बातों को लिखता हूँ , वो तुम्हारे लफ्ज़ लिखते हैं ..!!
    मैं अपना बदलाव लिखता हूँ , वो अपना वर्तमान लिखते हैं ..
    मैं बसंत को लिखता हूँ , वो शरद लिखते हैं ..!!
    मैं तुम्हारे साथ हूँ तो लिखता हूँ , वो तुमसे दूर है तो लिखते हैं ..
    मैं झूठ लिखता हूँ फरेब लिखता हूँ , वो सिर्फ़ सच लिखते हैं ..!!
    मनीष