• gauravkasture 23w

    कल की आस में अपना आज जलाता रहा

    खुद के घर में लगी थी आग, मैं दूसरों की प्यास बुझाता रहा।

    ©gauravkasture