• firozpasta 5w

    😐

    मैं शोहरातों को गिरवी रख के नेकियों को ख़रीदता हूँ..
    ए ज़िंदगी कभी फ़ुरसत में मिलना तेरा भी हिसाब कर दूँगा..

    ©FP