• imshiva 23w

    माँ

    माँ सबको प्यारी है अपनी ,
    दुसरो की माँ को गाली बकते है ।
    एक दिन क्यों मनाते हो माँ के नाम पर ,
    ये जितने भी है सब माँ के हफ्ते है ।
    पहले इज़्ज़त देनी सीखो हर एक की माँ को,
    अपनी माँ के लिए तो लाखो मरते है।
    और शायद कुछ के लिए आम बात है उनकी माँ का होना ,
    एक बार उन से पूछो जो रोज़ माँ के लिए तरसते है ।
    ©imshiva