• sangini_kesarwani 22w

    ..भारतवासी ..

    सुनो गौर से भारतवासी
    तुम पीछे ही रह जाओगे
    सोच तुम्हारी अभी भी वैसी
    तुम कहां किसी को सम्मान दे पाओगे।

    सुनो गौर से भारतवासी
    तुम कहां देश का अभिमान बढा़ओगे
    सारे कर्मो में तो दाग बहुत है
    तुम ही दामन का दाग बन जाओगे।

    सुनो गौर से भारतवासी
    इंसान होने की भी थोड़ा कदर करो
    रोज बढ़ रहे है अत्याचार
    अब थोड़ा तो शर्म करो।

    सुनो गौर से भारतवासी
    ये हिंदू मुस्लिम क्या होते है
    ऊपर वाले जब नहीं बाँटा हमें
    तो हम कौन बाँट ने वाले होते है।

    सुनो गौर से भारतवासी
    मीठी भी समाने में कत्तराएगी
    काम तूने वैसा किया
    तो भारत माँ भी तुझे ठुकराएगी।

    ©संगिनी_केसरवानी|16.04.2018