• im_ankitt 6w

    मेरे दोस्त, ये बहरो को बस्ती है यहाँ रोने का नई,
    यहाँ का खुदा तो अनपढ़ है, उसे समझाने का नई।।।
    ©im_ankitt