• shayari_ki_diary77 23w

    अमीर

    कितनी ही ख्वाहिशें हारी मेरी जरूरतों पर उसने, फिर भी मरा हुआ उसका जमीर नहीं देखा
    दौलतमंद तो बहुत देखे दुनिया में  ऐ-यारों, मगर सच कहूं तो अपने बाप जैसा अमीर नहीं देखा
    ©shayari_ki_dayari77