• mogambo 5w

    एक सौ सोलह चाँद की रातें,
    एक तुम्हारे काँधे का तिल गीली मेहंदी की खुशबू,
    झूठमूठ के शिकवे कुछ झूठमूठ के वादे भी,
    सब याद करा दूँ सब भिजवा दो,
    मेरा वो सामान लौटा दो