• akash_mishra_ 6w

    Good Morning

    *पहाड़ियों की तरह खामोश हैं,*
    *आज के संबंध और रिश्ते...*
    *जब तक हम न पुकारें,*
    *उधर से आवाज ही नहीं आती!*
    ©akash_mishra_