• inqlabii 5w

    अब तकल्लुफ़ नही करते किसी को समझाने की
    सवाली मुस्कुराता है , हम आइना थमा देते है


    © Dilawar Inqlabi